महेन्द्र सिंह टिकैत की जयंती पर भारतीय किसान यूनियन से नरेश व राकेश टिकैत की छुट्टी, राजेश सिंह चौहान नए अध्यक्ष….

31

लखनऊ: किसानों के बड़े नेता स्वर्गीय महेन्द्र सिंह टिकैत की जयंती पर रविवार को लखनऊ में भारतीय किसान यूनियन की बैठक में उनके परिवार को बड़ा झटका मिला है। में बड़ा फेरबदल हुआ है। लखनऊ के गन्ना संस्थान सभागार में आज की कार्यकारिणी की बैठक में बड़ा फैसला लिया गया।
कार्यकारिणी की बैठक में राकेश टिकैत को भारतीय किसान यूनियन से बर्खास्त कर दिया गया है। इसके साथ ही उनके भाई नरेश टिकैत को भी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद से हटा दिया गया है। भारतीय किसान यूनियन में अब बड़ा बवाल के साथ बगावत भी शुरू हो गई है। पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कई बड़े किसान नेताओं ने टिकैत भाइयों का विरोध किया था। नरेश टिकैत के स्थान पर फतेहपुर के राजेश सिंह चौहान का नया अध्यक्ष चुना गया है। स्वर्गीय महेन्द्र सिंह टिकैत की जयंती 15 मई को लखनऊ में भारतीय किसान यूनियन (अराजनैतिक) की महत्वपूर्ण बैठक में महेन्द्र सिंह टिकैत के बेटों को पार्टी में बड़ा झटका लगा है। इस बैठक में भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश सिंह टिकैत को पार्टी से बर्खास्त कर दिया गया है जबकि पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश सिंह टिकैत को पद से हटा दिया गया है। पार्टी ने आज राजेश सिंह चौहान को नया अध्यक्ष चुना है।
भारतीय किसान यूनियन अराजनैतिक के नए अध्यक्ष राजेश सिंह चौहान ने प्रेस कान्फ्रेंस में कहा कि राकेश टिकैत तथा नरेश टिकैत राजनीति से प्रेरित हैं। हम किसी राजनैतिक दल से नहीं जुड़ेंगे। हम महेन्द्र सिंह टिकैत के मार्ग पर चलने वाले है, हम अपने सिद्धांतों को विपरीत नहीं जाएंगे।
राजेश सिंह चौहान ने कहा कि मैंने दोनों भाइयों को किसी भी राजनीतिक दलों से जुडऩे का विरोध किया था। हमने कहा था हम अराजनैतिक लोग हैं। हमारा काम किसान समस्याओं पर लडऩा है। इस दौरान दोनों भाइयों ने हमसे किसी दल से जुडऩे के लिए कई बार कहा, लेकिन हम नहीं जुड़े। हम भी किसान आंदोलन में बराबर के हिस्सेदार रहे। मैंने राकेश तथा नरेश टिकैत के साथ हमेशा लड़ाई लड़ी है। अब भी सरकार नहीं सुनेगी तो हम किसानों की लड़ाई लड़ेंगे। हम तो स्वर्गीय महेन्द्र सिंह टिकैत को मिशन को आगे बढ़ाएंगे।
राजेश सिंह चौहान ने कहा कि हम अब नए सिरे से संगठन को तैयार करेंगे। देश के किसान नेता राकेश तथा नरेश टिकैत के हर कदम से बेहद नाराज हैं। हमने तो हर मंच पर किसानों की समस्याओं को उठाने का संकल्प लिया है। किसानों के हित की बात करने की जगह नरेश टिकैत तथा राकेश टिकैत कुछ चाटुकारों के बीच फंसे हैं। लखनऊ में भारतीय किसान यूनियन की कार्यकारिणी बैठक में राकेश तथा नरेश टिकैत के खिलाफ कार्रवाई से पार्टी में दो फाड़ तय हो गया है। इसी दौरान भाकियू (अराजनैतिक) ने नरेश टिकैट को अध्यक्ष पद से हटाया।

- Advertisement -

Leave A Reply

Your email address will not be published.