कोरोना कहर के चलते गुजरात सरकार ने यूनिवर्सिटी परीक्षाएं की स्थगित, 9 लाख से ज्यादा स्टूडेंट्स ऐसे होंगे प्रमोट…

46

गुजरात: देश भर में आई कोरोना वायरस की दूसरी लहर के चलते हालात बदतर हैं। वहीं इन परिस्थितियों के चलते गुजरात सरकार ने भी एक अहम फैसला लिया है। इसके तहत राज्य सरकार ने यूजी के दूसरे, चौथे और छठवें सेमेस्टर की परीक्षाओं 2021 को रद्द करने का निर्णय लिया है। इसके साथ ही इन स्टूडेंट्स को प्रमोट करने का फैसला किया है।

इस संबंध में राज्य के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने घोषणा की है। इसके मुताबिक यूजी पाठ्यक्रमों के दूसरे, चौथे और छठवें सेमेस्टर लिए विश्वविद्यालय परीक्षा रद्द करने की घोषणा की है। इसके साथ ही इन छात्रों को ग्रांट मेरिट बेस्ड प्रोगाम के आधार पर अगली कक्षा में प्रमोट करने का फैसला किया है। इसके तहत 9.5 लाख से अधिक छात्रों को यह लाभ मिल सकेगा। इसके साथ ही

मुख्यमंत्री ने स्पष्ट किया है कि यह फैसला मेडिकल और पैरामेडिकल प्रोगाम को छोड़कर, गुजरात विश्वविद्यालयों में दूसरे चौथे और छठे सेमेस्टर के 9.5 लाख से अधिक छात्रों को ग्रांट-मेरिट बेस्ड प्रोगाम पर दाखिला दिया जाएगा। वहीं इस संबंध में सीएमओ की तरफ से एक ट्वीट भी किया गया है।

इसके पहले राज्य में महामारी के बढ़ते मामलों को देखते हुए गुजरात माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की परीक्षाएं स्थगित कर दी गई हैं। वहीं बोर्ड ने 9वीं और 11 वीं के स्टूडेंट्स को भी अगली क्लास में प्रमोट करने का फैसला किया है। बोर्ड ने राज्य में कोविड-़19 संक्रमण के बढ़ते केसेज को देखते हुए यह फैसला लिया था। इस महामारी के चलते गुजरात बोर्ड के अलावा सीबीएसई बोर्ड सहित देश के कई राज्यों ने भी 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं टाल दी थीं।

- Advertisement -

Leave A Reply

Your email address will not be published.