CM योगी आदित्यनाथ सरकार ने पेश किया अपना चौथा बजट, 5.25 लाख करोड़ रुपये के बजट को मंजूरी…

0 60

लखनऊ: CM योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली उत्तर प्रदेश की सरकार आज यानि मंगलवार को विधानमंडल के दोनों सदनों में वित्तीय वर्ष 2020-21 का बजट पेश किया। उत्तर प्रदेश के मंत्री परिषद ने यूपी के बजट को मंजूरी दे दी। कैबिनेट की बैठक में लगभग 5. 25 लाख करोड़ रुपये के बजट को मंजूरी मिली। वित्त मंत्री सुरेश खन्ना लाल सूटकेस के साथ विधानसभा पहुंचे। इस बार के बजट में 10 हजार 967 करोड़ 87 लाख की नई योजनाएं शामिल की गई। बता दें, बजट आकार का अनुमान पहले ही लगा लिया गया था। बजट के माध्यम से प्रदेश सरकार एक्सप्रेस वे
योगी सरकार का बजट 2020…
1.ग्रामीण सीएचसी बेहतरी के लिए 50 करोड़
2.सीएचसी केंद्रों के लिए 65 करोड़
3.जिला अस्‍पतालों के लिए 70 करोड़
4.अटल आवासीय स्‍कूल को 270 करोड़
5.पीएम मातृ योजना के 291 करोड़
6.एसजीपीजीआइ के लिए 820 करोड़
7.राज्‍य सड़क निधि को 1500 करोड़
8.मार्ग अनुरक्षण के लिए 3524 करोड़
9.कोर रोड नेटवर्क के लिए 830 करोड़
10.नव नवसृजित जिलों में अस्‍पताल बनेगा
11.100 बेड संयुक्‍त चिकित्‍सालय बनेगा
12.CM शिक्षुता प्रोत्‍साहन योजना जा रहे
13.बजट में 100 करोड़ की व्‍यवस्‍था की
उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार का यह चौथा बजट है, जिसमें युवाओं और महिलाओं पर खास फोकस होने की उम्मीद है। यह पहला मौका होगा जब दोनों सदनों में बजट सुबह 11 बजे पेश किया जाएगा। पिछले वर्षों में बजट दोपहर 12.20 बजे पेश किया जाता था। बजट में पूर्वांचल और बुंदेलखंड के पिछडऩेपन को दूर करने के लिए अच्छी खासी धनराशि देने की बातें बताई जा रही हैं। इस धनराशि से इन दोनों क्षेत्रों की समस्याओं को दूर करने की कोशिश होगी। सड़क, बिजली, पानी से जुड़ी योजनाओं को तेज किया जाएगा।
वित्त मंत्री सुरेश खन्ना विधानसभा में बजट पेश करेंगे तो विधान परिषद में इस परंपरा को नेता सदन उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा निभाएंगे। विधानमंडल में पेश किये जाने से पहले मंगलवार सुबह 9.30 बजे लोकभवन में होने वाली कैबिनेट बैठक में बजट के मसौदे को मंजूरी दी जाएगी। बजट का आकार 5.15 लाख करोड़ रुपये होने का अनुमान है। समावेशी विकास के फॉर्मूले के तहत नये बजट के जरिये योगी सरकार युवाओं, महिलाओं और किसानों को साधने की कोशिश करेगी।

- Advertisement -

Leave A Reply

Your email address will not be published.