लखनऊ में कोरोना की मार से 3900 करोड़ का व्यापार धड़ाम, सर्राफा, कपड़ा, इलेक्ट्रानिक समेत कई बिजनेस चौपट…

21

लखनऊ: कोरोना की दूसरी लहर से राजधानी के व्यापारियों को दो माह में करीब 3920 करोड़ का नुकसान हुआ है। कपड़ा, सर्राफा, इलेक्ट्रानिक, मेटल, कास्मेटिक्स, स्टेशनरी, कुल्फी बाजार हो या फिर वाहन मार्केट एवं अन्य सभी ट्रेडों का कारोबार प्रभावित हुआ है। लखनऊ से होने वाले आसपास के दो दर्जन जिलों के बीच होने वाला व्यापार लडख़ड़ा गया है। गोदामों और शोरूम में करोड़ों का माल बंद पड़ा है। व्यापारी सहालग के बचे दिनों को देख अब जल्द से जल्द लाकडाउन खुलने की बाट जोह रहे हैं।

प्रभावित व्यापार

धनराशि (करोड़ में)- वस्तु

  • 600 – एसी-फ्रिज एवं इलेक्ट्रानिक बाजार
  • 100 – फालूदा कुल्फी, लस्सी, आइसक्रीम व अन्य
  • 500 – स्टेशनरी
  • 800 – कपड़ा, होजरी, लहंगा, साड़ी, शेरवानी
  • 500 – सर्राफा बाजार
  • 100 – अक्षय तृतीया पर सर्राफा
  • 300 – मोबाइल और लैपटॉप बाजार
  • 20 – वाहन बाजार (12,328 वाहन बंद रहे शोरूम में)
  • 500 – मेटल बाजार
  • 100 – कास्मेटिक्स
  • 400 – चूड़ी, श्रृंगार, गृह उपयोगी वस्तुओं एवं अन्य

कुल- 3920 करोड़

कोरोना ने व्यापार को इस कदर संक्रमित किया कि व्यापारी इसकी मार से महीनों नहीं निकल पाएंगे। हजारों करोड़ की चपत लगी है। सहालग बीतने को है। बाजार बंद हैं। अगर जल्द न खुले तो शेष सहालग भी निकल जाएगी।

  •  विजय कुमार (अध्यक्ष) लखनऊ आदर्श टेंट कैटर्स व्यापारी एसोसिएशन, उ. प्र.

 

- Advertisement -

Leave A Reply

Your email address will not be published.