दिल्ली सरकार का बड़ा फैसला, 18 साल के ऊपर वालों को लगेगी फ्री वैक्‍सीन…

35

दिल्ली: देश की राजधानी दिल्ली में लगातार बढ़ रहे कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच आम आदमी पार्टी सरकार ने 1 मई से 18 साल से ऊपर वालों को भी फ्री में वैक्सीन लगवाने का फैसला किया है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को डिजिटल प्रेस वार्ता में यह जानकारी दी। अरविंद केजरीवाल सरकार के इस फैसले से कोरोना वैक्‍सीनेशन प्रोग्राम में तेजी आएगी और ज्‍यादा से ज्‍यादा लोगों को कोरोना टीका लगाया जा सकेगा। अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को डिजिटल पत्रकार वार्ता के दौरान बताया कि हमने 1.34 करोड़ टीकों की खरीद के लिए स्वीकृति दी है। हम यह सुनिश्चित करने का प्रयास करेंगे कि इसे जल्द से जल्द खरीदा जाए और लोगों को जल्द से जल्द लोगों को लगाया जाए। अरविंद केजरीवाल ने यह भी कहा कि इस महामारी में हमने देखा है कि 18 साल से कम उम्र के जवान और बच्चे भी बहुत संक्रमित हो रहे हैं, अब उनके लिए भी सोचने का समय आ गया है कि ये वैक्सीन उनको भी लगाई जा सकती हैं और अगर नहीं लगाई जा सकती तो मैं उम्मीद करता हूं कि जल्द दूसरी वैक्सीन भी ईजाद होंगी। हमने दिल्ली में एक करोड़ 34 लाख वैक्सीन खरीदने की मंजूरी दी है। वैक्सीन के एक निर्माता ने कहा है कि वो राज्य सरकारों को 400 और दूसरे ने कहा कि वो 600 रुपये में वैक्सीन देंगे और केंद्र सरकार को 150-150 रुपये में देंगे। इसकी एक ही कीमत होनी चाहिए। इस दौरान अरविंद केजरीवाल ने कहा कि वैक्सीन के दाम अलग अलग आ रहे हैं, जो ठीक नहीं है। वैक्सीन बनाने वाली कंपनियों से निवेदन है कि वह इसे 150 रुपये तक ले आएं। केंद्र सरकार से भी निवेदन है कि दाम पर कैपिंग की जाए। सीएम ने कहा कि हम कोशिश कर रहे हैं कि जल्द ही वैक्सीन लगाने का काम शुरू किया जाए। ब्रिटेन में कुछ समय पहले तक कोराेना का इतना ही कहर था, जितना भारत में है। वहां उन्होंने अपने लोगों को बड़े स्तर पर वैक्सीन लगाई जिससे कोरोना नियंत्रित हुआ। काेरोना को समाप्त करने का बहुत बड़ा कारण वैक्सीन को माना जा रहा है। मुख्य सचिव विजय देव द्वारा जारी किए गए आदेश के मुताबिक, लॉकडाउन के दौरान कूरियर सेवा, इलेक्ट्रिशियन, प्लंबर व वाटर प्यूरिफायर से संबंधित लोगों को काम करने की छूट दी गई है। इसके अलावा बच्चों की पढ़ाई से संबंधित किताबों की दुकानें व बिजली के पंखों से संबंधित दुकानें भी खुली रहेंगी। आवश्यक सामान की ढुलाई करने वाले ट्रकों व खाली ट्रकों की आवाजाही पर भी कोई रोक नहीं होगी, लेकिन इन ट्रकों को ई-पास दिखाना होगा।

- Advertisement -

Leave A Reply

Your email address will not be published.