कानपुर: रात के अंधेरे में आ रही थी बच्चे के रोने की आवाज, ग्रामीण पास पहुंचे तो कांप गई रुह…

48

कानपुर: उत्तर प्रदेश के कानपुर जनपद में बिल्हौर के ककवन थाना क्षेत्र के फत्तेपुर गांव में एक बच्चे के साथ अमानवीयता की सारी हदें पार कर दी गईं, उसकी हालत जिसने भी देखी वह सहम गया। गांव के बाहर पिटाई के बाद उसे सूनसान इलाके में निर्माणाधीन मकान के पिलर से बांधकर रात के अंधेरे में छोड़ दिया गया। डर की वजह से सारी रात कांपते रहे बच्चे के रोने की आवाज सुनकर ग्रामीण पहुंचे तो उसकी हालत देखकर उनकी भी रुह कांप गई। अब पुलिस ने बच्चे को अपनी कस्टडी में लेकर उपचार शुरू कराया है, फिलहाल अभी पुलिस को कुछ बताने को तैयार नहीं है।

ककवन थाना क्षेत्र के फत्तेपुर गांव में रहने वाले राम प्रकाश राठौर का 12 वर्षीय पुत्र रमन अपने दोस्त कमल किशोर मंगलवार की शाम गांव के पास पेड़ से जामुन तोड़कर खा रहे थे। ग्रामीणों के अनुसार इस दौरान रमन ने जामुन तोड़ने के लिए पेड़ पर पत्थर मारा, जो कमल किशोर के सिर में लग गया। पत्थर लगने से कमल किशोर जख्मी हो गया, इसकी जानकारी पर स्वजन पहुंच गए और उसे अस्पताल ले गए।

कमल किशोर के जख्मी होने से नाराज पिता राजू ने राम प्रकाश के घर पर जाकर गाली गलौज की और खून का बदला खून से लेने की बात कही। आरोप है कि देर रात राजू ने रमन को पकड़ने के बाद मारपीट की। इसके बाद उसे गांव से 100 मीटर दूर सड़क किनारे सूनसान इलाके में निर्माणाधीन मकान के अंदर ले गया। राजू ने रमन को रात के अंधेरे में मकान के पिलर में बांध दिया और वहां से चला गया। रात के अंधेरे में रमन डर से कांपता रहा। आधी रात रास्ते से गुजरे ग्रामीणों को बच्चे के रोने की आवाज सुनाई दी तो ग्रामीणों के कदम ठिठक गए। आवाज की दिशा में ग्रामीण पहुंचे तो नजारा देखकर उनकी भी रुह कांप गई। इसके बाद ग्रामीणों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने रमन को बंधन मुक्त किया। थाना प्रभारी संतोष कुमार ओझा ने बताया की अभी बच्चा अभी बहुत सहमा हुआ है और कुछ सही बता नहीं पा रहा है। पूछताछ की जा रही है, तहरीर मिलने पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

- Advertisement -

Leave A Reply

Your email address will not be published.