इंजन से बाेगी अलग होने पर 45 मिनट तक ट्रेन का परिचालन हुआ प्रभावित

27

गोरखपुर: गोरखपुर-लखनऊ रेल खंड के मुंडेरवा रेलवे स्टेशन से पूर्व दिशा में स्थित कठिनइया नदी के रेलवे पुल को पार करते समय गोरखपुर-यशवंतनगर एक्सप्रेस ट्रेन के इंजन का संपर्क डिब्बों से कट गया और इंजन मुंडेरवा रेलवे स्टेशन के करीब पहुंच गया। इंजन से कटे बोगी अहरा केबिन पर ही रुक गए। हालांकि ट्रेन की गति काफी कम होने से कोई हादसा नहीं हुआ और न ही कोई यात्री घायल हुआ। इस घटना के बाद बोगियों में सवार यात्रियों में खलबली मच गई।

गोरखपुर यशवंत नगर एक्सप्रेस अप ट्रेन संख्या (5023) सुबह 9.45 बजे के करीब कठिनइया नदी के पुल को पास कर रही थी। इसी बीच इंजन का संपर्क बोगी से कट गया, जिससे इंजन मुंडेरवा रेलवे स्टेशन के करीब रुका जबकि बोगियां अहरा केबिन पर रुक गईं। ट्रेन की गति कम थी। इंजन व डिब्बों का संपर्क टूटने के बावजूद भी कोई घटना नहीं घटी। रेलवे मुख्यालय के अधिकारियों के आदेश के बाद इंजन को पुन: वापस अहरा लाया गया। पटरी पर खड़े बोगियों को जोड़ा गया और उसके बाद फिर रवाना हुई। इस दौरान करीब 45 मिनट तक ट्रेन का परिचालन प्रभावित हुआ। ट्रेन का इंजन बोगियों से अलग होने के बावजूद भी कोई हताहत न होने से अधिकारियों ने राहत की सांस ली।

बताया गया कि इस दौरान किसी ट्रेन का आवागमन प्रभावित नहीं हुआ। मुंडेरवा स्टेशन अधीक्षक अरुन कुमार क्याल ने बताया कि तकनीकी खामियों के चलते ऐसा हुआ होगा। बाद में इंजन व बोगियों को डिब्बो को जोड़ा गया। 45 मिनट विलंब से ट्रेन को रवाना किया गया।

मुंबई जाने वाले पूर्वांचल के कामगारों के लिए रेलवे प्रशासन ने जनरल स्पेशल एक्सप्रेस चलाने की योजना तैयार की है। इस सप्ताह शुक्रवार या शनिवार को यह ट्रेन चल सकती है। इस ट्रेन में भी आरक्षित कोच ही लगेंगे, लेकिन सभी जनरल (सामान्य) होंगे। अप्रैल और मई में बढ़ते संक्रमण, पंचायत चुनाव और वैवाहिक कार्यक्रमों में भाग लेने के लिए घर आए प्रवासी अब वापस जाने लगे हैं। सबसे अधिक परेशानी जनरल कोचों में यात्रा करने वाले कामगारों को हो रही है। उनकी परेशानियों को देखते हुए रेलवे प्रशासन ने सिर्फ जनरल ट्रेन चलाने का निर्णय लिया है। पहले से चल रहीं गोरखपुर-पनवेल और गोरखपुर-एलटीटी अतिरिक्त स्पेशल ट्रेनों के भी फेरे बढ़ाए जाएंगे।

बस्ती संवाददाता अशोक कुमार

- Advertisement -

Leave A Reply

Your email address will not be published.