आंध्र प्रदेश: हादसे में अब तक 8 लोगों की मौत, PM मोदी ने बुलाई आपातकाल बैठक…

0 13

आंध्र प्रदेश के विशाखापट्टनम में एक प्लास्टिक फैक्ट्री में आज सुबह गैस रिसाव होने से एक बड़ा हादसा हो गया। गैस लीक होने की घटना में अब तक 8 लोगों की मौत हो चुकी है।विशाखापट्टनम के आरआर वेंकटपुरम गांव की एक फैक्ट्री में गैस रिसाव की यह घटना सामने आई।आरआर वेंकटपुरम गांव की एलजी पॉलिमर उद्योग में स्टाइरीन गैस रिसाव के बाद एक बच्चे सहित कम से कम 8 लोगों की मौत हो चुकी है।वहीं एनडीआरएफ के महानिदेशक के मुताबिक 800 लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
कर्नाटक के मुख्य़मंत्री बीएस येदियुरप्पा ने इस हादसे पर दुख जताया है। उन्होंने ट्विटर पर लिखा कि उसका मेरे विचार और प्रार्थना प्रभावित परिवारों के साथ हैं।विशाखापत्तनम में हुई घटना से बेहद दुखी हूं। आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी विशाखापट्टनम के लिए रवाना हुए। वह किंग जॉर्ज अस्पताल जाएंगे जहां वह अस्पताल में भर्ती लोगों से मिलेंगे।
आंध्र प्रदेश के डीजीपी दामोदर गौतम सवांग ने कहा कि विशाखापट्टनम गैस लीक एक हादसा है। कंपनी सभी प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन कर रही थी। फिलहाल इसकी जांच चल रही है।घटनास्थल पर फॉरेंसिक टीम भी भेजी जा रही है। आंध्र प्रदेश के DGP दामोदर गौतम सवांग ने जानकारी दी है कि विशाखापट्टन गैस लीक हादसे में अब तक 8 लोगों की मौत हो चुकी है।डीजीपी ने जानकारी दी कि गैस पर काबू पा लिया गया है। लगभग 800 को अस्पताल में भर्ती किया गया, कई को छुट्टी दे दी गई। यह कैसे हुआ, इसकी जांच की जाएगी।
आंध्र प्रदेश के उद्योग मंत्री एमजी रेड्डी ने बताया कि कारखाने में गैस रिसाव की सूचना के बाद, लॉकडाउन प्रक्रिया तुरंत शुरू की गई थी।स्थानीय प्रशासन को सूचित किया गया।गैस को तुरंत हानिरहित तरल रूप में बेअसर किया गया।लेकिन थोड़ी गैस, फैक्ट्री परिसर से बाहर निकलकर आस-पास के इलाकों में पहुंच गई, जिससे लोग प्रभावित हो गए।
उन्होंने कहा कि जो कंपनी इसे प्रबंधित कर रही थी, उसे इस घटना के लिए जिम्मेदार होना चाहिए। उन्हें आगे आना होगा और हमें यह बताना होगा कि किन प्रोटोकॉल का पालन किया गया था और किनका पालन नहीं किया गया था। तदनुसार, उनके खिलाफ आपराधिक कार्रवाई की जाएगी।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विशाखापट्टनम की स्थिति के मद्देनजर एनडीएमए (राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण) की बैठक बुलाई है। केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह भी इस बैठक में मौजूद हैं।
एनडीआरएफ प्रमुख ने बताया है कि विशाखापट्टनम में गैस रिसाव की घटना एक प्लास्टिक फैक्ट्री में सामने आई। इस फैक्ट्री को लॉकडाउन के दौरान बंद कर दिया गया था। इसे फिर से खोलने की तैयार की जा रही थी।

- Advertisement -

Leave A Reply

Your email address will not be published.